Wednesday, 13 December 2017

सुगर कंट्रोल करने के टिप्स | Sugar Control Tips in Hindi Language

  Admin       Wednesday, 13 December 2017
आज देश के तक़रीबन हर परिवार का एक ना एक सदस्य डायबिटीज से पीड़ित है. एक सर्वे के अनुसार साल 2012 में भारत में लगभग 6 करोड़ लोग डायबिटीज से पीड़ित थे.

इसी कारणवश भारत को डायबिटीज जैसी बीमारी की राजधानी कहा जाता है. लोगों के बीच जागरूकता की कमी इस गंभीर बीमारी का सबसे बड़ा कारण है.

अधिकतर लोगों को तो बीमारी का पता तब चलता है जब उनका सुगर लेवल काफी हद तक बढ़ जाता है और बीमारी जानलेवा हो जाती है.

एक और सर्वे के अनुसार साल 2012 में लगभग 10 लाख लोगों की मौत डायबिटीज के कराण हुई थी.



सुगर कंट्रोल करने के टिप्स | Sugar Control Tips in Hindi Language 

सुगर कंट्रोल करने के टिप्स | Sugar Control Tips in Hindi Language

क्या है डायबिटीज ?


डायबिटीज जिसे मधुमेह भी कहा जाता है एक गंभीर बीमारी है जो लोगों को बड़ी तेजी से अपने चपेट में ले रही है. इसके रोगियों के रक्त में ग्लूकोज़ (शर्करा) का स्तर सामान्य से अधिक हो जाता है.

ज्यादा स्तर होने के कारण रक्त की कोशिकाएं इसका उपयोग नहीं कर पाती हैं जो हमारे शरीर के लिए हानिकारक होता है.  लगातार ग्लूकोज़ लेवल का बढ़ा होना शरीर के अंग प्रत्यंगों को नुक्सान पंहुचाने लगता है .

डायबिटीज जानलेवा भी हो सकता है. यह अंदर ही अंदर रोगियों के अंगों को खराब करता है जिसका उन्हें पता भी नहीं चलता और इसी  कारण इसे ‘साइलेंट किलर’ भी कहते हैं.

क्या हैं कारण ?


ज्यादातर बिमारियों के जैसा मधुमेह का भी बड़ा कारण अनियंत्रित जीवनशैली है. खान पान एवं लाइफ स्टाइल की गलत आदत जैसे मीठे व भारी भोजन अधिक करना, समय पर खाना न खाना , व्यायाम से दूरी, मोटपा , तनाव , धूम्रपान, तंबाकू, आनुवंशिकता आदि डायबिटीज के प्रमुख कारण हैं.

इसके लक्षण पहचानें

बीमारी के शुरूआती दौर में शरीर में अनेक लक्षण दिखते हैं. अगर इन लक्षणों को पहचान कर डायबिटीज
का इलाज सही समय पर कराया जाये तो इस गम्भीर बीमारी को जानलेवा होने से बचाया जा सकता है.

तो चलिये जानते हैं इसके प्रमुख लक्षण – ज्यादा भूख व प्यास लगना, बार बार टॉयलेट लगना, बिना
काम के थकान होना, शरीर पर हुए घाव का जल्दी ठीक न होना, बार बार त्वचा में इन्फ़ेक्सन होना आदि.
अगर ये लक्षण आपको दिख रहे हैं तो अपना शुगर लेवल चेक करायें.

किसी भी जाँच घर में शुगर लेवल आसानी से चेक कराया जा सकता है.




ऐसे रखें अपना शुगर लेवल अंडर कंट्रोल


डायबिटीज होने पर घबरायें नहीँ. अगर खुद पर ध्यान दिया जाये तो यह एक मामूली बीमारी है. हर महीने अपना शुगर लेवल चेक करायें व अच्छे डॉक्टर से दिखाएँ और दवा समय पर लें.

दवा के साथ-साथ आप निम्नलिखित उपाय भी अपना सकते हैं जिसकी मदद से आप डायबिटीज को कहेंगे बाय-बाय .

खान पान का रखें ख्याल


डायबिटीज होने पर चीनी व मीठे चीजों का सेवन करने से बचें. हरी सब्जियां ज्यादा से ज्यादा खाएं, तली भूनी चीज़ से परहेज करें, एक बार में ज्यादा भोजन करने के बजाय छोटे छोटे अंतराल में भोजन करें.

गेहूं, जौ व चने के आटे का मिश्रण शुगर की बीमारी में फायदेमंद होता है.

शारीरिक परिश्रम के अभाव में आपका शुगर लेवल बढ़ सकता है. इसीलिए सुबह शाम टहलने की आदत डालें.
मात्र आधे घंटे का वॉक आपके शुगर लेवल को नार्मल रखने में मदद करता है. तो आलस को छोड़ें और टहलें.
योगा है समाधान

अगर शुरुआत से ही आपके जीवनशैली में योगा व व्यायाम शामिल है तो मधुमेह आपके आस पास भी नहीं भटकेगा. लेकिन फिर भी अगर आप डायबिटीज के शिकार हो गए हैं तो अपने दिनचर्या में योगा को शामिल करें.

रोजाना योगा करना आपके शुगर लेवल को कंट्रोल रखने में मदद करता है. सही योगा करने पर महीने भर में आपको अंतर दिखेगा. योगा की जानकारी के अभाव में आप इंटरनेट की मदद ले सकते हैं.

तनाव से बचें


बढे हुए शुगर लेवल का एक प्रमुख कारण तनाव होता है. इसीलिए तनाव से बचें. अपनी समस्या दूसरों से साझा करें, मन को शांत रखने के लिए प्राणायाम का सहारा लें.

घरेलु उपाय भी अपनाऐं


दवा के साथ-साथ कुछ घरेलु उपाय भी शुगर लेवल को कंट्रोल रखने में मददगार होता है. सुबह शाम 100 से 125 मिली करेला जूस, 15 से 20 ग्राम मेथी चूर्ण, जामून का रस व उसके गुठली का चूर्ण , गिलोय, सफेद फूल वाले सदाबाहर पौधे के पत्ते आदि का सेवन डायबिटीज को कंट्रोल रखने में कारगार है.



logoblog

Thanks for reading सुगर कंट्रोल करने के टिप्स | Sugar Control Tips in Hindi Language

Previous
« Prev Post

No comments:

Post a Comment